अभियान से लोगों को बताएंगे लोकायुक्त संस्था के काम और शिकायत के तरीके

0
54

उदयपुर | प्रदेश के लोकायुक्त एसएस कोठारी ने कहा कि लोकायुक्त एक जागृति अभियान शुरू किया जाएगा, ताकि लोगों को यह पता चल सके कि लोकायुक्त संस्था कैसे काम करती है। सिस्टम को तकनीकी रूप से भी मजबूत किया गया है। मकसद शिकायतकर्ता को जानकारी देना है कि उसकी शिकायत किस स्तर पर है। एप के जरिए शिकायत की प्रगति रिपोर्ट भी देखी जा सकती है। कोठारी सचिवालय के सचिव जिला जज उमाशंकर शर्मा और सहायक सचिव संजीव पांडे के साथ उदयपुर जिले से जुड़े प्रकरणों पर चर्चा करने गुरुवार को आए थे। उन्होंने कहा कि विकास के लिए सुशासन और सुशासन के लिए भ्रष्टाचार से मुक्त होना जरूरी है। कोठारी ने 23 प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की। ज्यादा समय से लम्बित प्रकरणों को निपटाने के निर्देश दिए। उन्होंने गलत इंजेक्शन से मरीज के अपाहिज होने के मामले में हुई कार्रवाई की जानकारी लेने के साथ चरागाह-यूआईटी की भूमि पर अतिक्रमण, झोलाछाप डॉक्टर, तीन भूखंडों पर नियम विरुद्ध निर्माण, पति की मृत्यु बाद ससुराल पक्ष के खिलाफ लंबित प्रकरणों की जांच को गति देने की बात कही। कलेक्टर आनंदी, एसपी कैलाशचंद्र बिश्नोई, जिला परिषद सीईओ कमर चौधरी, नगर निगम के कार्यवाहक आयुक्त ओपी बुनकर, एडीएम सिटी संजय कुमार आदि मौजूद थे। बोले- उदयपुर में शिकायत की आदत नहीं या प्रशासन संवेदनशील कोठारी ने कहा कि उदयपुर में दूसरे जिलों के मुकाबले शिकायतें कम आई हैं। नई 12-15 शिकायतें ही मिली हैं। यानी या तो उदयपुर में लोगों को शिकायत करने की आदत नहीं या फिर प्रशासन संवेदनशील है। कोठारी ने बताया कि उनके कार्यकाल में 28 हजार शिकायतें आईं, जिनमें से करीब चार हजार पेंडिंग हैं। बैठक से पहले लोकायुक्त सचिवालय के अधिकारियों ने शिविर लगाया। इसमें जिले में नियम विरुद्ध दौड़ रही बसों का मामला भी पहुंचा। राजस्थान रोडवेज मजदूर कांग्रेस ने बताया कि उदयपुर से बड़ी सादड़ी, डबोक, भटेवर, भींडर, कानोड़ आदि मार्ग पर बसें नियम विरुद्ध दौड़ रही हैं।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Source: Rajastahn