अमीरों को नहीं भा रहा देश का रहन-सहन, भारत ने 1 साल में गवाई 35000 करोड़ से ज्यादा की रकम

0
11

नई दिल्ली। भारत देश जिसे सोने की चिड़िया कहा जाता रहा है। ऐसा सच में है या नही ये बात ग्लोबल वेल्थ माइग्रेशन रिव्यू 2019 में साफ हो जाती है। इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत में कुल 118 अरबपति हैं। लेकिन यहां चौकाने वाली बात यह है कि इन अमीरों में से अधिकतर लोगों को यहां का रहन सहन पसंद नहीं है जिस कारण बड़े पैमाने पर अमीर लोग भारत छोड़कर दूसरे देश का रुख कर रहे हैं। जिसके चलते भारत ने 1 साल में करीब 35000 करोड़ से ज्यादा की रकम केवल साल में गंवा दी है।
35000 करोड़ से ज्यादा का नुकसान
जीएमएमआर 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक 2018 में भारत के 5000 करोड़पति लोगों ने देश छोड़ दिया है। यहां खास बात यह है कि इन लोगों में से करीब 14 लाख लोग ऐसे हैं जिनकी संपत्ति करीब 1 मिलियन डॉलर (6.9 करोड़ रुपए) या उससे अधिक है। अगर 5000 अमीर लोगों ने एक साल में भारत से पलायन किया है। तो इस लिहाज से भारत से केवल एक साल में करीब 35000 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति बाहर चली गई है।
देश छोड़ने की ये है वजह
जिन अमीर भारतीयों ने देश छोड़ा है उन्हें यहां का वातारण और रहन सहन पंसद नहीं है। खासकर यहां का क्लाइमेट, प्रदूषण, जगह की कमी, वित्तीय चिंताएं, बच्चों के लिए स्कूल और शिक्षा के अवसर, कार्य और व्यापार के लिए अवसर, टैक्स, स्वास्थ्य सुविधाएं, धार्मिक तनाव, जीवन स्तर जैसे कारक पसंद नहीं हैं।
किस सेक्टर में सबसे ज्यादा अमीर
आपको बता दें कि जीएमएमआर रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय वित्तीय सेवाएं, आईटी, बीपीओ, रियल एस्टेट, हेल्थकेयर सेक्टर और मीडिया सेक्टर के विकास के कारण भारत में अब ज्यादा अमीर पैदा हो रहे हैं। लेकिन वहीं सवाल है कि आखिर इन्हीं सेक्टर्स के लोग उतनी ही तेजी से देश से पलायन भी कर रहे है।
 
Source: business patrika
अमीरों को नहीं भा रहा देश का रहन-सहन, भारत ने 1 साल में गवाई 35000 करोड़ से ज्यादा की रकम