दिनभर शहर का कचरा उठाते हैं, भुगतान से ठेकेदार 500 से 1000 रुपए काट लेता है

0
6

एक सफाईकर्मी दिनभर शहर और घरों के बाहर एकत्रित कचरे को गाड़ी में भर ले जाते हैं। काम का पूरा मेहनताना मिलने की आस में सफाईकर्मी दिनभर काम करते हैं, लेकिन ठेकेदार इन सफाईकर्मियों को पूरा भुगतान नहीं दे रहा। ऐसे में इन सफाईकर्मियों को परिवार का भरण पोषण करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सफाईकर्मी के जीवन में बच्चों की पढ़ाई, परिवार और दूसरा खर्च इतना होता है कि वह अपने लिए कुछ बचा नहीं पाता है। इसलिए सरकार ने इन सफाईकर्मियों के लिए मासिक भुगतान के साथ भविष्य निधि योजना की शुरुआत की। ताकि इनका पीएफ कटकर भविष्य भी सुरक्षित रह सके और इनको भुगतान भी बराबर मिल सके, लेकिन शहर में इन सफाईकर्मियों के साथ नगरपरिषद और ठेकेदार शोषण कर रहे है। सरकार के तय अनुसार हेल्पर को 5 हजार 23 रुपए मासिक, 213 रुपए प्रतिदिन मिलना चाहिए। वहीं ड्राइवर को 6 हजार 58 रुपए मासिक, 233 रुपए प्रतिदिन का नियम बना रखा है। वह भी इनके खाते खुलवाकर सीधे तनख्वाह के साथ पीएफ कटना चाहिए। लेकिन नगरपरिषद द्वारा दिए गए टेंडर के ठेकेदार राजेश राव पिछले 6 माह से पीएफ के नाम पर 500 से लेकर 100 रुपए काट रहा है। जबकि इन किसी भी सफाईकर्मियों से न खाता खुलवाया न ही किसी भी प्रकार के कोई दस्तावेज लिए। सुनवाई की जाएगी, वास्तव में ठेकेदार की अनियमितता है श्रमिक हित की बात है। श्रमिकों का अहित होने पर संबंधित ठेकेदार पर कार्रवाई होगी। वास्तव में इन्हें भुगतान में कटौती और बैंक में पीएफ नहीं कटने की लापरवाही सामने आई है। कुलदीपसिंह शक्तावत, श्रम विभाग के कार्यवाहक निदेशक इन सफाईकर्मियों ने बयां किया दर्द ड्राइवर लालजी, मुकेश, राजेश, गट्टू लाल, मनीष, सुरेश और हेल्पर रवि, विजेश, हितेश, प्रकाश, गणेश, महावीर, कपिल ने बताया कि हम गरीब परिवार से हैं। हमे मिलने वाला मासिक भुगतान इतना कम है कि परिवार का भरण पोषण नहीं हो पाता। बच्चों की पढ़ाई का खर्च, घर का राशन और कइयों की मां बीमार रहती है। उनको महीने में दवाई चाहिए। पैसों की बचत नहीं हो पाती है। दिनभर मेहनत करते है कि हमारी पगार पूरी मिल जाए। लेकिन ठेकेदार हमारे भुगतान से 6 महीने से कटौती कर रहा है। नगरपरिषद भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। जबकि उसने हमारे से बैंक बुक और अन्य प्रकार के कोई दस्तावेज नहीं लिए। <img src="images/p2.png"मामला जानकारी में आया है, संबंधित ठेकेदार को बुलाया था, लेकिन वह नहीं आया है, आज उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्रभुलाल भापोर, नगरपरिषद बांसवाड़ा बांसवाड़ा. ठेकेदार के खिलाफ शिकायत करने पहुंचे सफाईकर्मी।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Banswara News – rajasthan news taking the city39s garbage throughout the day the contractor deducts 500 to 1000 rupees from the payment

Source: Rajastahn
दिनभर शहर का कचरा उठाते हैं, भुगतान से ठेकेदार 500 से 1000 रुपए काट लेता है