नगरपालिका बन गई सब्जीमंडी, अध्यक्ष ने आपा खोया, पार्षद विक्रेताओं के समर्थन में उतरे

0
8

कोटा/सांगोद.
गोशाला संचालन समेत कई अन्य मुद्दों को लेकर गुरुवार को नगर पालिका कार्यालय में हुई बोर्ड की बैठक में सब्जीमंडी को लेकर जमकर हंगामा हुआ। पूर्व की बोर्ड बैठक में सब्जीमंडी को लेकर हुए निर्णय की पालना नहीं होने पर कई पार्षदों ने नाराजगी जताई और पालिकाध्यक्ष देवकीनंदन राठौर समेत अधिकारियों को घेरा। मामले को लेकर कई बार पालिकाध्यक्ष एवं अन्य पार्षदों के बीच जमकर बहस हुई। उल्लेखनीय है कि चार माह पूर्व सब्जीमंडी निर्माण की मांग को लेकर सब्जी विक्रेताओं के आंदोलन दौरान जनप्रतिनिधियों एवं विक्रेताओं के बीच समझौता हुआ। इसमें तय किया गया था कि स्थाई सब्जीमंडी निर्माण में किसी भी तरह की बाधा आई तो समझौते के दो माह के भीतर पूर्व की सब्जीमंडी के स्थान पर बनाई गई दुकानों की दीवारें ढहा इसे पुन: सब्जीमंडी में तब्दील कर दिया जाएगा। बाद में इसका बोर्ड की बैठक में भी प्रस्ताव लिया गया। चार माह बाद भी न तो स्थाई सब्जीमंडी का निर्माण शुरू हो सका और नहीं समझौते की पालना हुई।यूं गर्माया मामला बोर्ड बैठक की भनक लगते ही कई सब्जी विक्रेता कार्यालय पहुंच गए और पालिकाध्यक्ष से समझौते की पालना की मांग की। पालिकाध्यक्ष ने बैठक के बाद चर्चा की बात कहते हुए उन्हें बाहर जाने को कहा। सब्जी विक्रेता कक्ष से बाहर नहीं निकले तो पालिकाध्यक्ष ने कनिष्ठ अभियंता से उन्हें बाहर निकालने व नहीं मानने पर पुलिस बुलाने को कहा। इस पर पार्षद रामावतार खटीक, अरविन्द चौरसिया, पंकज शर्मा, शकील मिर्जा आदि भड़क गए तथा विरोध जताया। इस बात को लेकर पार्षदों एवं पालिकाध्यक्ष के बीच जमकर बहस हुई। पालिका उपाध्यक्ष जगदीश शर्मा ने भी समर्थन करते हुए उनकी समस्या निस्तारण की बात कही। पार्षदों को गुमराह करने की बात कहते हुए नाराजगी जताते हुए रवैये में सुधार की चेतावनी दी। बैठक के बाद भाजपा पार्षद महावीर सुमन ने सब्जीमंडी का मसला हल नहीं होने पर पालिकाध्यक्ष को इस्तीफा सौंप दिया।हंगामे के बीच पालिकाध्यक्ष ने कहा कि सब्जीमंडी को लेकर न्यायालय में सुनवाई होने वाली है, जब तक हमें इंतजार करना चाहिए। उन्होंने दो माह में इसके निस्तारण का भरोसा दिलाया। इन प्रस्तावों पर चर्चाबैठक में गोशाला संचालन के लिए काशीपुरी ट्रस्ट को जमीन मुहैया करवाने के प्रस्ताव विभाग को भिजवाने, काशीपुरी बस स्टैण्ड का विकास, सफाई कर्मचारियों के टेंडर, पुलिया के पास त्रिकोणी जमीन पर पार्क निर्माण आदि पर चर्चा हुई।
Source: Kota Rss