भगवान के घर न देर है, न अंधेरः विज्ञानानंद

0
0

हरिद्वार, 11 जुलाई (उदयपुर किरण). श्रीगीता विज्ञान आश्रम के परमाध्यक्ष महामण्डलेश्वर स्वामी विज्ञानानन्द सरस्वती ने कहा है कि भगवान के दरबार में न देर है, न ही अंधेर. जो भी विलम्ब होता है, भक्त की पुकार में होता है. जब भी भक्त भगवान का स्मरण करता है, वे बिना किसी विलम्ब के तत्काल सहायता करते हैं.

वे राजा गार्डन स्थित श्रीहनुमत गौशाला में गुरुवार को व्यास पूजा महोत्सव के उपलक्ष्य में श्रोताओं को भागवत कथा सुना थे. द्रोपदी के चीर हरण, गज-ग्राह के युद्ध और नृसिंहावतार की कथा सुनाते हुए उन्होंने कहा कि भगवान भक्त की इच्छानुसार प्रकट होते हैं. द्रोपदी ने पुकारा तो वस्त्रावतार के रुप में प्रकट हुए. गज को जब तक अपने बल का अहंकार रहा उसकी मुक्ति नहीं हुई. अन्त में हार कर उसने भगवान को पुकारा तो तुरन्त ग्राह ने उसका पैर छोड़ दिया.

भक्त के प्रति भगवान की कृपा का वर्णन करते हुए उन्होंने कहा कि भगवान अपने भक्तों के हृदय में प्रकट होते है, लेकिन भक्त प्रहलाद की पुकार पर भगवान को लोहे का खंभा फाड़कर नृसिंहावतार के रुप में हिरण्यकश्यप का वध करना पड़ा. श्रीगीता विज्ञान आश्रम के प्रवक्ता आचार्य हरिओम ने बताया कि 12 जुलाई को श्रीकृष्ण जन्म की कथा और नन्दोत्सव का आयोजन होगा.

 

 

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

Report By Udaipur Kiran

Source: Udaipurkiran
भगवान के घर न देर है, न अंधेरः विज्ञानानंद