भारतीय फूड सर्विस उद्योग 2023 में पहुंच सकता है 6 लाख करोड़ रुपए के पार

0
6

नई दिल्ली। भारतीय फूड सर्विस उद्योग के वर्ष 2018-19 के 423865 करोड़ रुपए से बढ़कर वर्ष 2022-23 में 599782 करोड़ रुपए पर पहुंचने का अनुमान है। देश में रेस्त्रां का संचालन करने वालों के शीर्ष संगठन नेशनल रेस्टोरेंट एसोसियेशन ऑफ इंडिया ( एनआरएआई ) की गुरूवार रात यहां जारी रिपोर्ट में यह अनुमान जताया गया है।
यह भी पढ़ेंः- मुकेश अंबानी ने 259 साल पुरानी ब्रिटिश टाॅय कंपनी हेमलीज का किया टेकओवर
रिपोर्ट के अनुसार इस उद्योग के वार्षिक 9 फीसदी की गति से बढऩे की संभावना है। संगठन ने देश के 24 प्रमुख शहरों में 130 रेस्टारेंटों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों और 3500 उपभोक्ताओं के साथ बातचीत के आधार पर इस रिपोर्ट को तैयार किया है।
यह भी पढ़ेंः- सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद, सेंसेक्स 96 अंक फिसला, निफ्टी 23 अंक लुढ़का
एनआरएआई के अध्यक्ष राहुल सिंह ने कहा कि रिटेल और बीमा उद्योग के बाद यह सेवा क्षेत्र का तीसरा बड़ा उद्योग है। यह फिल्म उद्योग की तुलना में तीन गुना, होटल उद्योग की तुलना में 4.7 गुना और दवा उद्योग की तुलना में 1.5 गुना बड़ा है।
यह भी पढ़ेंः- विदेशी मुद्रा भंडार लगातार दूसरे सप्ताह वृद्घि, 17.19 करोड़ डॉलर का इजाफा
एनआरएआई के अध्यक्ष ने कहा कि वर्ष 2018-19 में रेस्टोरेंट उद्योग में 73 लाख लोगों को रोजगार मिला हुआ है। इस उद्योग ने वर्ष 2018-19 में 1800 करोड़ रुपए का कर चुकाया है।
यह भी पढ़ेंः- वैश्विक अनिश्चितताओं के बीच आरबीआई बढ़ा सकता है स्वर्ण भंडार
राहुल सिंह ने कहा कि अगर असंगठित फूड उद्योग को संगठित क्षेत्र का हिस्सा बना दिया जाये तो सरकार को चुकाये जाने वाले कर का आंकड़ा दोगुना हो सकता है। देश के पांच लाख से अधिक रेस्टोरेंट इस संगठन के सदस्य है।
 
Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.
Source: business patrika
भारतीय फूड सर्विस उद्योग 2023 में पहुंच सकता है 6 लाख करोड़ रुपए के पार