लगातार दूसरी बार थोक महंगाई दर में बढ़ोतरी, मार्च माह 3.18 फीसदी रही

0
9

नई दिल्ली। थोक मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई दर से लगातार दूसरी बार सरकार को निराशा हाथ लगी है। फरवरी माह के बाद अब मार्च माह में भी थोक महंगाई दर 2.93 फीसदी से बढ़कर 3.18 फीसदी हो गई। इसके बारे में सोमवार को सरकार की तरफ से जारी आंकड़े में जानकारी दी गई है। फरवरी माह में थोक महंगाई दर ( Wholesale Price Index ) 2.93 फीसदी रहा था। पिछले साल यानी मार्च 2018 में यह 2.74 फीसदी रही थी।
सब्जियों के दाम में तेजी के रूख से खाद्य पदार्थों की दरों में भी तेजी दर्ज की गई। मार्च माह में सब्जियों की महंगाई दर 28.13 फीसदी रही, जबकि इसके पहले फरवरी माह में यह 6.82 फीसदी रही थी। हालांक, फरवरी माह की तुलना में आलू की महंगाई दर 1.30 फीसदी रही थी। फरवरी माह में यह 23.40 फीसदी रही थी। खाद्य पदार्थों की दरों की बात करें तो यह 5.68 फीसदी रही। ईंधन एवं पावर कैटेगरी में भी महंगाई दर फरवरी माह के 2.23 फीसदी से बढ़कर 5.41 फीसदी रही।
इसके पहले अपनी मौद्रिक समीक्षा नीति बैठक में भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में 25 आधार अंक यानी 0.25 फीसदी की कटौती किया था। पिछले सप्ताह जारी आंकड़ों के खुदरा महंगाई दर के आंकड़ों के मुताबिक, मार्च माह में खुदर महंगाई दर 2.86 फीसदी रही थी। अप्रैल-सितंबर माह के लिए आरबीआई ने अनुमानित महंगाई दर का लक्ष्य 2.9 से 3 फीसदी रखा था। खाद्य एवं ईंधन की दरों में कमी के साथ आरबीआई ने सामान्य मॉनसून को ध्यान में रखते हुए यह अनुमान लगाया था।
 Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.
Source: business patrika
लगातार दूसरी बार थोक महंगाई दर में बढ़ोतरी, मार्च माह 3.18 फीसदी रही