श्रावण मास में कांवड़ियों की सुरक्षा को लेकर रहेंगे पुख्ता इंतजाम

0
0
प्रयागराज, 11 जुलाई (उदयपुर किरण). श्रावण मास में कांवड़ियों की सुरक्षा व सुविधा को लेकर पुलिस एवं प्रशासन गंगा के सात घाटों पर पुख्ता इन्तजाम करने में जुट गया है. संगम से जल भरकर वाराणसी जाने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा एवं यातायात को सुगम बनाने के लिए दूसरे जिलों से भी पुलिस बल की मांग की है.

बाबा भोले का जलाभिषेक करने के लिए श्रृंगवेरपुर, फाफामऊ, दशाश्वमेध, काली सड़क, रामघाट, संगम नोज और अरैल घाट पर जल भरने के लिए व्यवस्था तैयार की जा रही है. श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बैरीकेडिंग की जाएगी और नाव पर गोताखोरों के साथ जल पुलिस के जवान तैनात किए जाएंगे. दशाश्वमेघ घाट पर कांवड़ियों की सबसे अधिक भीड़ लगती है.

श्रावण मास में शंकर विमान मण्डप, मनकामेश्वर, तक्षकेश्वर, पांडेश्वर (पड़िला महादेव) सहित शहर के सभी मंदिरों में भगवान भोले नाथ का जलाभिषेक, रुद्राभिषेक के साथ पूजा अर्चना की जाती है. 17 जुलाई से शुरू होने वाले श्रावण के प्रथम सोमवार 22 जुलाई को विशेष पूजा अर्चना की जाती है. इसके बाद 29 जुलाई, 5 अगस्त एवं 12 अगस्त को सोमवार होगा. 15 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा होगी, जिसमें श्रद्धालु व्रत रखते हैं.

पुलिस अधीक्षक नगर नरेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि 17 जुलाई से शुरू होने वाले श्रावण मास में कांवड़ियों की सुरक्षा के लिए संगम तट पर दो समेत अन्य पांच घाटों पर एक-एक मोटर बोट रहेगी, जल पुलिस के जवान सभी घाटों पर तैनात रहेंगे. इसके अतिरिक्त प्रयाग से वाराणसी तक जाने वाले मार्गों पर सुरक्षा के लिए एक कम्पनी पीएसी, एक प्लाटून बाढ़ राहत पीएसी, प्राइवेट और प्रशिक्षित गोताखोर तैनात किए जाएंगे. कांवड़िये बायीं लेन पर चलेंगे और वाहनों का आवागमन दूसरी लेन से होगा. बड़े वाहनों पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध रहेगा.

 

 

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

Report By Udaipur Kiran

Source: Udaipurkiran
श्रावण मास में कांवड़ियों की सुरक्षा को लेकर रहेंगे पुख्ता इंतजाम